अभी तक नहीं हो पाया है कार्यसमिति का गठन, कैसे पूरा होगा अखिलेश का मिशन 351 का लक्ष्य?

Share and Spread the love

2017 यूपी विधानसभा और 2019 लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव अब आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुट गए हैं. 2022 चुनाव में अखिलेश यादव ने 351 सीटें जीतने का दावा किया है. इसके लिए उन्होंने मिशन 351 का लक्ष्य रखा है.
इतना बड़ा लक्ष्य तय करने के बावजूद समाजवादी पार्टी में अभी तक कार्यसमिति का गठन नहीं हो पाया है. लोकसभा चुनाव 2019 में मिली हार के बाद पार्टी संगठनों और प्रवक्ताओं के पैनल को भंग कर दिया गया था. इतना समय बीत जाने के बाद अभी तक इनका गठन नहीं हो पाया है. बताया जा रहा है कि अभी कार्यकारी समिति के गठन में कुछ समय और लगेगा.
image credit-social mediaये समिति ही चुनाव क्षेत्रों के विश्लेषण, उम्मीदवारों के चयन प्रक्रिया, टिकटों का बटवारा, चुनाव अभियान, जिला इकाइयों के गठन आदि में विशेष भूमिका निभाती है. बता दें कि सपा की यूपी में 90 जिला और महानगर इकाइयां हैं. इनमें से अभी तक 60 पर ही अध्यक्षों की नियुक्ति हो पाई है. प्रवक्ताओं के पैनल को भी पुनर्गठित किया गया है.
समाजवादी पार्टी यूपी में खुद को मुख्य विपक्षी दल मान रही है. उनका मानना है कि भाजपा सरकार में जनता त्रस्त है और आने वाले समय में उसका झुकाव सपा की ओर होगा. अखिलेश यादव लगातार सपा सरकार के दौरान हुए विकास कार्यों का जिक्र करके योगी सरकार पर निशाना साधते रहते हैं.
Image credit- social mediaचुनाव जीतने के लिए जहां मुद्दे उठाकर सत्ताधारी दल को घेरना जरूरी है वहीं संगठन को भी मजबूत करना बेहद जरूरी है. ये बात तो सच है कि बिना संगठन की मजबूती के चुनाव जीतना कहुत ही मुश्किल है.
सत्ताधारी दल भाजपा की सबसे बड़ी ताकत उसका संगठन ही है. संगठन के मामले में फिलहाल भाजपा के मुकाबले सपा काफी पीछे दिखाई दे रही है. अभी सपा को अपने संगठन को और भी मजबूत करने की जरूरत है.
The post अभी तक नहीं हो पाया है कार्यसमिति का गठन, कैसे पूरा होगा अखिलेश का मिशन 351 का लक्ष्य? appeared first on AKHBAAR TIMES.