नो फीस KG टू PG के बाद छात्रों की एक और मुहिम, कहा नो एक्जाम UG टू PG

Share and Spread the love

कोरोना संकट में अंतिम वर्ष की परीक्षाओं के आयोजन की घोषणा के बाद अब इसका विरोध शुरू हो गया है. छात्र लगातार ये मांग कर रहे हैं कि कोरोना काल में परीक्षा कराने से संक्रमण का खतरा है इसलिए सरकार को परीक्षाएं स्थगित कर देनी चाहिए.
काशी हिंदू विश्वविद्यालय में पढ़ रहे समाजवादी छात्र सभा के सदस्य नीतीश कुमार ने कहा कि नो फीस केजी टू पीजी अभियान के बाद सपा छात्र सभा नो एक्जाम यूजी टू पीजी का अभियान चला रहे हैं. उन्होंने कहा कि कोरोना काल में किसी भी विद्यार्थी से फीस न ली जाए क्योंकि जब स्कूल और विश्यविद्यालय में पढ़ाई हुई ही नही तो फीस कैसी.

नितीश ने कहा कि छात्रों के अभिभावक जो बड़ी मेहनत करके पैसा कमाते हैं तब जाकर अपने बच्चों की फीस दे पाते हैं. और सरकार का मनन किया तो उसने इस कोरोना जैसे महामारी में ये आदेश कर दिया कि छात्रों को फीस देनी है. जिसका हम सभी समाजवादी लोग विरोध करते हैं और सरकार से मांग करते हैं कि किसी भी छात्र से फीस न ली जाए.
इसके अलावा उन्होंने कहा कि इतनी बड़ी महामारी में छात्रों की जान जोखिम में डाल कर यूजीसी ने गाइदडलाइन जारी कर दी कि यूजी और पीजी के फाइनल ईयर के छात्रों की परीक्षा कराई जाए.
छात्रों ने कहा कि आप हमें बताएं जब देश में दिन प्रतिदिन कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे तब ये परीक्षा करने की बात कर रहे हैं. अगर एक भी छात्र को कुछ होता है तो क्या सरकार या यूजीसी कोई जिम्मेदारी लेगी.
The post नो फीस KG टू PG के बाद छात्रों की एक और मुहिम, कहा नो एक्जाम UG टू PG appeared first on AKHBAAR TIMES.