राजीव गांधी का अचानक न होता निधन तो उसी समय बन चुका होता राम मंदिरः भाजपा सांसद

Share and Spread the love

अयोध्या में 5 अगस्त को होने वाले राम मंदिर के भूमि पूजन को लेकर तैयारियां जोरों पर हैं. सुरक्षा व्यवस्था से लेकर कोविड के प्रोटोकाल के तहत पूरे कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है. अब से दो दिन बाद शुभ मुहूर्त में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राम मंदिर निर्माण की आधारशिला रखेंगे.
एक तरफ जहां पूरे देश की निगाहें इस कार्यक्रम पर लगी हैं वहीं भाजपा के वरिष्ठ नेता और सांसद सुब्रमण्यम स्वामी के बयान ने सबको चौंका दिया. उन्होंने कहा कि राम मंदिर निर्माण में पीएम मोदी का कोई योगदान नहीं है. स्वामी ने इसका श्रेय पूव्र प्रधानमंत्री राजीव गांधी, पीवी नरसिम्हा राव और वीएचपी नेता अशोक सिंहल को दिया.
उन्होंने कहा कि इन लोगों ने राम मंदिर के लिए काम किया था. भाजपा सांसद ने ये भी कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल विहारी बाजपेई ने भी इसमें अडंगा लगाया था, ये बात अशोक सिंहल ने उन्हें बताई थी.

स्वामी ने कहा कि राजीव गांधी अगर दोबारा प्रधानमंत्री बन गए होते तो राम मंदिर का निर्माण उसी समय हो चुका होता. उन्होंने ही ताला खुलवाया था और शिलान्यास की अनुमति दी थी. अचानक उनके निधन से सारी चीजें बिगड़ गई.
सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि पांच साल से राम सेतु को राष्ट्रीय धरोहर घोषित करने की फाइल उनकी टेबल पर है मगर आज तक उन्होंने हस्ताक्षर नहीं किया. स्वामी ने कहा कि मैं अदालत जाकर इस संबंध में आदेश ला सकता हूं मगर अपनी पार्टी की सरकार होने के बावजूद अदालत से आदेश लाना पड़े ये अच्छा नहीं लगता.
The post राजीव गांधी का अचानक न होता निधन तो उसी समय बन चुका होता राम मंदिरः भाजपा सांसद appeared first on AKHBAAR TIMES.