सनातन धर्म की मान्यताओं को नजरअंदाज करने से भाजपा नेताओं को हुआ कोरोनाः दिग्विजय सिंह

Share and Spread the love

5 अगस्त को होने वाले राम मंदिर शिलान्यास कार्यक्रम को लेकर सियासत तेज हो गई है. कोरोना काल में शिलान्यास कार्यक्रम और भूमि पूजन के मुहूर्त को लेकर भी सवाल उठाए जा रहे हैं. इन्हीं विवादों के बीच पीएम मोदी राम मंदिर का शिलान्यास करेंगे.
कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने तंज कसते हुए कहा कि सनातन हिंदू धर्म की मान्यताओं को नजर अंदाज करने नतीजा है कि राम मंदिर के पुजारी कोरोना पॉजिटिव, उत्तर प्रदेश सरकार की मंत्री कमल रानी वरूण का कोरोना से स्वर्गवास, यूपी बीजेपी अध्यक्ष कोरोना पॉजिटिव, गृहमंत्री अमित शाह कोरोना पॉजिटिव, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष कोरोना पॉजिटिव, कर्नाटक के मुख्यमंत्री कोरोना पॉजिटिव.

दिग्विजय ने कहा कि 5 अगस्त को राम मंदिर शिलान्यास के लिए मुहूर्त अशुभ है. उन्होंने कहा कि 5 अगस्त को भगवान राम के मंदिर शिलान्यास के अशुभ मुहुर्त के बारे में विस्तार से जगदगुरू स्वामी स्वरूपानंद जी महाराज ने सचेत किया था. मोदी जी की सुविधा पर यह अशुभ मुहुर्त निकाला गया. यानि मोदी जी हिंदू धर्म की हजारो वर्षों की स्थापित मान्यताओं से बड़े हैं. क्या यही हिंदुत्व है?
कांग्रेस नेता ने कहा कि मोदी जी आप अशुभ मुहुर्त में भगवान राम मंदिर का शिलान्यास कर और कितने लोगों को अस्पताल भिजवाना चाहते हैं? योगी जी आप ही मोदी जी को समझाइए. आपके रहते हुए सनातन धर्म की सारी मर्यादाओं को क्यो तोड़ा जा रहा है? और आपकी क्या मजबूरी है जो आप यह सब होने दे रहे हैं?
The post सनातन धर्म की मान्यताओं को नजरअंदाज करने से भाजपा नेताओं को हुआ कोरोनाः दिग्विजय सिंह appeared first on AKHBAAR TIMES.