मंदिर ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया आडवाणी और जोशी को क्यों नहीं भेजा गया न्यौता?

Share and Spread the love

अयोध्या में कल होने वाले राम मंदिर भूमिपूजन और शिलान्यास कार्यक्रम को लेकर तैयारियां अंतिम दौर में हैं. कोरोना काल में होने वाले इस कार्यक्रम में बेहद चुनिंदा लोगों को ही आमंत्रित किया गया है. साधु संतों के अलावा आरएसएस और बीजेपी के कई दिग्गज नेताओं को इस कार्यक्रम में बुलाया गया है.
राम मंदिर ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने मीडिया को पूरे कार्यक्रम के बारे में जानकारी दी. भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी को निमंत्रण न दिए जाने के मुद्दे पर भी बातचीत की. उन्होंने बताया कि दोनों नेताओं को निमंत्रण नहीं भेजा गया है.
चंपत राय ने बताया कि एलके आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी से फोन पर बातचीत की गई तो उन्होंने कार्यक्रम में आने से असमर्थता जता दी इसी वजह से उन्हें निमंत्रण नहीं भेजा गया. उन्होंने कहा कि बढ़ती उम्र की वजह से पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह से भी कार्यक्रम में न शामिल होने का आग्रह किया गया है.

राय ने बताया कि समारोह मंच पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा संघ प्रमुख मोहन भागवत, यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, महंत नृत्यगोपालदास ही मौजूद रहेंगे.
शिलान्यास कार्यक्रम के लिए दो मुस्लिमों को भी न्यौता दिया गया है. इसमें इकबाल अंसारी और मोहम्मद शरीफ के नाम शामिल हैं. बता दें कि कल पीएम मोदी अयोध्या पहुंचेंगे और बेहद कम समय के शुभ मुहूर्त में वो राम मंदिर की आधारशिला रखेंगे.
The post मंदिर ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया आडवाणी और जोशी को क्यों नहीं भेजा गया न्यौता? appeared first on AKHBAAR TIMES.