अखिलेश यादव और शिवपाल के बीच क्या ‘पुल’ बनेंगे मुलायम सिंह यादव?

Share and Spread the love

समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव नहीं चाहते थे कि परिवार में दो फाड़ हो, लेकिन अंततः ये हो ही गया. उनके छोटे भाई शिवपाल यादव ने अपनी अलग पार्टी बनाई प्रगतिशील समाजवादी पार्टी. हालांकि सपा के कुछ नेता चाहते हैं कि शिवपाल वापस पार्टी में आ जाएं. शिवपाल यादव खुद भी कई बार सपा के साथ गठबंधन करने की बात कह चुके हैं लेकिन वह विलय से इनकार करते हैं.
वहीँ सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव आगामी विधानसभा चुनाव में किसी भी पार्टी से गठबंधन करने से इनकार कर चुके हैं. यानि अखिलेश ने अपना रुख शिवपाल के प्रति नहीं बदला है. वहीं अब सवाल उठ रहा है कि क्या मुलायम सिंह यादव ही शिवपाल और अखिलेश के बीच पुल बन सकते हैं?
जिसका कारण है कि जब कभी भी मुलायम सिंह की तबीयत खराब होती है, उनके बेटे अखिलेश यादव और बहू डिंपल यादव के साथ उनके छोटे भाई शिवपाल यादव भी उनके पास मौजूद होते हैं.
कुछ ऐसा ही इस बार भी हुआ. मेदांता में भर्ती हुए मुलायम सिंह के पास दोनों परिवार मौजूद रहे. इसी बहाने शिवपाल और अखिलेश के बीच नजदीकियां बढ़ रही हैं.
सपा संस्थापक के स्वास्थ्य पर शिवपाल यादव ने ट्वीट किया कि पिछले 2-3 दिनों से बहुत से शुभचिंतक हम सभी की प्रेरणा व उर्जा के श्रोत श्री मुलायम सिंह यादव जी की सेहत को लेकर परेशान थे. नेता जी ईश्वर की अनुकम्पा से स्वास्थ्य हैं व स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं. ईश्वर से प्रार्थना है कि नेता जी दीर्घायु हों, स्वास्थ्य रहें और देश व समाज को दिशा दें.
कुछ समय पहले विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने विधानसभा अध्यक्ष को पत्र लिखकर जसवंतनगर से विधायक शिवपाल यादव की सदस्यता समाप्त करने की याचिका वापस ली थी. जिसका भी अर्थ निकाला गया था कि सपा ने शिवपाल के प्रति नरमी का रुख किया है.
इससे पहले सपा ने शिवपाल के प्रगतिशील समाजवादी पार्टी बनाने के बाद विधानसभा अध्यक्ष को पत्र लिखकर शिवपाल यादव की सदस्यता रद्द करने की दलबदल कानून के तहत मांग की थी.
The post अखिलेश यादव और शिवपाल के बीच क्या ‘पुल’ बनेंगे मुलायम सिंह यादव? appeared first on AKHBAAR TIMES.