जमातियों को पकड़ने वाले को 11 हजार का ईनाम देने वाले अज्जू हिंदुस्तानी की मौत

Share and Spread the love

image credit-social mediaहिंदू युवा वाहिनी बस्ती के जिला प्रभारी रहे अज्जू हिंदुस्तानी और उनकी बहन के बाद मंगलवार को मां का भी निधन हो गया. वो भी कोविड-19 से पीड़ित थी. पिछले कई दिनों से उनका इलाज बस्ती के मेडिकल कालेज के ओपैक चिकित्सालय कैली में चल रहा था.
19 जुलाई को पीजीआई में टेस्ट के बाद चला कि वो कोरोना संक्रमित है. उन्हें बस्ती के ही कैली चिकिस्तालय में भर्ती कराया गया था, हालत बिगड़ने पर उन्हें कैली अस्पताल से पीजीआई के लिए रेफर कर दिया है, जहां पर इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई.
कोरोना के शुरुआती दौर में हिंदु युवा वाहिनी ने अज्जू हिंदुस्तानी की अगुवाई में घोषणा की थी इस दौरान कहा था कि जो कोई तब्लीगियों को पकड़ेगा उसे हमारे संगठन की ओर से 11 हजार का नकद इनाम दिया जाएगा. इस दौरान उन्होंने कहा था कि साजिश के तहत जमाती और रोहिंग्या कोरोना फैला रहे हैं.
अज्जू हिंदुस्तानी विवादित बयानों के लिए जाने जाते हैं. हिंदू और मुसलमान के बीच नफरत की राजनीति को बढ़ाने वाले वक्तव्य देते रहते हैं अज्जू हिंदुस्तानी ने योगी सरकार से ये भी मांग की थी कि जो हाल ही में 10 सालों के भीतर मस्जिद, मदरसे और मजारों का निर्माण हुआ है उनकी विधिवत जांच कराई जाए इसके साथ ही उनका संचालन किसके हाथों मे हैं इस बात का पता लगाया जाए.
जमातियों को कोरोना के लिए जिम्मेदार ठहराने वाले अज्जू हिंदुस्तानी ने जब कोरोना भारत में पांव पसार रहा था इस दौरान उन्होंने दावा किया था कि यज्ञ-हवन करने से कोरोना को खत्म किया जा सकता है. इसके लिए उन्होंने यज्ञ हवन भी करवाया था. इस दौरान उन्होंने दावा किया था कि  ऋषियों-मुनियों के द्वारा यज्ञ-हवन कर कई बीमारियों को समाप्त किया गया है.
The post जमातियों को पकड़ने वाले को 11 हजार का ईनाम देने वाले अज्जू हिंदुस्तानी की मौत appeared first on AKHBAAR TIMES.