अखिलेश के बाद अब मायावती भी ब्राह्मणों को लुभाने में जुटी, कहा सरकार बनी तो करेंगे ये काम

Share and Spread the love

कानपुर के बिकरू कांड और विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद विपक्ष लगातार सरकार को ब्राह्मण विरोधी बताने में जुट गया था. उनका कहना था कि भाजपा सरकार में ब्राह्मणों के साथ भेदभाव हो रहा है. प्रदेश में लगातार ब्राह्मणों को निशाना बनाया जा रहा है और उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा है.
समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने ब्राह्मणों को अपने पाले में करने के लिए एलान किया कि लखनऊ में भगवान परशुराम की 108 फिट ऊंची प्रतिमा लगावाई जाएगी. इसी बीच अब बसपा सुप्रीमो मायावती भी इस मामले में कूद पड़ी और ब्राह्मणों को लुभाने के लिए उन्होंने भी बड़ा दांव खेल दिया.
image credit-social mediaमायावती ने प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि अगर साल 2022 में यूपी में बसपा की सरकार बनती है तो भगवान परशुराम और सभी जातियों के महान संतों के नाम पर अस्पतालों व सुविधायुक्त ठहरने के स्थानों का निर्माण कराया जाएगा. समाजवादी पार्टी पर निशाना साधते हुए उन्होंने पूछा कि सपा ने आज तक ब्राह्मणों के लिए किया क्या है.
मायावती ने कहा कि बसपा की सरकार में सभी वर्गों के महान संतों के नाम पर जनहित की अनेक योजनाएं शुरू की गई जिसे सपा सरकार ने बंद करवा दिया. उन्होंने ये भी कहा कि हमारी सरकार सपा की लगाई मूर्ति से भी ज्यादा भव्य मूर्ति लगवाएगी.
The post अखिलेश के बाद अब मायावती भी ब्राह्मणों को लुभाने में जुटी, कहा सरकार बनी तो करेंगे ये काम appeared first on AKHBAAR TIMES.