गौतम बुद्ध को भारतीय कहने पर भड़का नेपाल, याद दिलाया नरेंद्र मोदी का बयान

Share and Spread the love

नेपाल ने गौतम बुद्ध को भारतीय कहने पर कड़ी आपत्ति जताई है. नेपाल के नेताओं ने भारतीय विदेश मंत्री डॉ एस जयशंकर के बयान का विरोध किया है. नेपाल विदेश मंत्रालय ने एतराज जताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक बयान को भी याद दिलाया है.
भारतीय विदेशमंत्री डॉ एस जयशंकर भारतीय उद्योग परिसंघ के इंडिया@75 शिखर सम्मलेन में संबोधित कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने कहा था कि महात्मा गांधी और भगवान बुद्ध दो ऐसे भारतीय महापुरुष हैं जिन्हें दुनिया हमेशा याद रखती है.
उन्होंने कहा कि अब तक सबसे महान भारतीय कौन हैं जिन्हें आप याद रख सकते हैं? मैं कहूंगा कि एक गौतम बुद्ध हैं और दूसरे महात्मा गांधी हैं.
नेपाल विदेश मंत्रालय का एतराज 
नेपाल विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया कि ऐतिहासिक और पौराणिक तथ्यों से यह साबित हुआ है कि गौतम बुद्ध का जन्म नेपाल के लुंबिनी में हुआ था. लुंबिनी बुद्ध और बुद्धिज्म की जन्मस्थली है. इसे यूनेस्को ने भी वर्ल्ड हेरिटेज साइट घोषित किया हुआ है.
आगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान का हवाला देते हुए कहा कि 2014 में नेपाल यात्रा के दौरान भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नेपाली संसद को संबोधित करते हुए कहा था कि नेपाल वह देश है जहां विश्व में शांति का उद्घोष हुआ और बुद्ध का जन्म हुआ.
भारतीय विदेश मंत्रालय ने किया स्पष्ट 
जिसके बाद भारतीय विदेश मंत्रालय की ओर से कहा गया कि सीआईआई के कार्यक्रम में कल विदेश मंत्री एस जयशंकर की टिप्पणी ने हमारी साझा बौद्ध विरासत को संदर्भित किया था. इसमें कोई शक नहीं कि गौतम बुद्ध का जन्म लुंबिनी में हुआ था, जो नेपाल में है.
The post गौतम बुद्ध को भारतीय कहने पर भड़का नेपाल, याद दिलाया नरेंद्र मोदी का बयान appeared first on AKHBAAR TIMES.