नोटबंदी और जीएसटी की तरह जल्दबाजी में लॉकडाउन कर देश को मुश्किल में डाला गयाः अखिलेश

Share and Spread the love

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मोदी सरकार के लॉकडाउन के तरीके पर सवाल उठाते हुए उसे जल्दबाजी में लिया गया फैसला करार दिया. उन्होंने कहा कि सरकार के फैसले से देश अव्यवस्था और असुरक्षा के चक्र में बुरी तरह से फंस गया है.
अखिलेश यादव ने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी की अचानक घोषणाओं की तरह प्रधानमंत्री जी ने लाॅकडाउन की भी अकस्मात घोषणा कर देश में विस्थापन और पलायन की जो स्थिति पैदा कर दी है उससे देश अव्यवस्था और असुरक्षा के चक्र में बुरी तरह फंस गया है. कितने श्रमिकों की जानें चली गई हैं. भूख-प्यास से दम तोड़ने की भी खबरें आ रही है. भाजपा अमीरों को राहत देने में लगी है. गरीब सड़क पर रेल पटरियों पर जान गंवा रहा है. भाजपा की वोट बैंक की राजनीति का यह खेल लोकतंत्र को कलंकित करने वाला है.
सपा मुखिया ने कहा कि अभी भी उत्तर प्रदेश की सीमाओं पर हजारों की संख्या में कामगारों को प्रशासन द्वारा रोकना, जो सैकड़ों मिलोमीटर पैदल चलकर आये हैं, उनके साथ दुव्र्यवहार करना और वे सभी दो-तीन दिन से भूखें-प्यासे हैं.
भाजपा सच्चाई का सामना करने से डरती है.

उन्होंने कहा कि सैकड़ों कोस चलकर आये लाखों की संख्या में कामगारों का भविष्य शासन की अदूरदर्शिता के कारण अंधेरे में गुम हो गया है. इस सच्चाई को स्वीकार करने में भाजपा अपनी पराजय समझती है. जनता को पराजित करना भाजपा अपनी बहादुरी समझती है. ये कैसा विरोधाभास है? एक न एक दिन भाजपा को सच्चाई का सामना तो करना ही पड़ेगा. भाजपा कब तक वास्तविकता से पलायन करती रहेगी? पीड़ित गरीबों, कामगारों-श्रमिकों की हाय भाजपा को भस्म करने की ताकत रखती है.
अखिलेश यादव ने कहा कि घर वापसी के लिए व्याकुल गरीब श्रमिकों के साथ ट्रेन और बस का किराया देने के बावजूद भी अच्छा सुलूक नहीं किया गया. कई जगह तो उन्हें पुलिस के डंडे भी खाने पड़ गए हैं.
The post नोटबंदी और जीएसटी की तरह जल्दबाजी में लॉकडाउन कर देश को मुश्किल में डाला गयाः अखिलेश appeared first on AKHBAAR TIMES.