विकास दुबे को पता था कॉल हो सकती ट्रेस, साथियों से बात करने का अपनाया ये तरीका

Share and Spread the love

विकास दुबे और उसके साथी घटना को अंजाम देने के बाद फरार हो गए थे. विकास कई दिनों तक पुलिस को चकमा देते हुए इधर-उधर भागता रहा था. इस दौरान उसने अपने साथियों से बात करने के लिए सीधे फोन कॉल का इस्तेमाल नहीं किया. उसे ये पता था कि उसकी कॉल को ट्रेस किया जा सकता है.
एक दूसरे से संपर्क करने के लिए व्हाट्सएप कॉल का इस्तेमाल किया गया. उन्हें ये जानकारी अच्छी तरह थी कि व्हाट्सएप कॉल को रिकॉर्ड या ट्रेस नहीं किया जा सकता है. लेकिन पुलिस ने इसका भी रास्ता खोज निकाला.
विकास दुबे के साथी प्रेम प्रकाश और अतुल दुबे ने सीधे फोन का इस्तेमाल किया था. जिसके चलते उनकी लोकेशन ट्रेस हो गयी थी. जिसके बाद पुलिस ने लोकेशन पर पहुंच घेराबंदी करली और मुठभेड़ में दोनों को ढेर कर दिया. इसके बाद सभी अपराधी अलर्ट हो गए. उन्होंने फोन कॉल का इस्तेमाल नहीं किया और व्हाट्सएप कॉल का प्रयोग किया.
व्हाट्सएप कॉल ट्रेस नहीं की जा सकती लेकिन पुलिस ने रिकॉर्ड करने का एक तरीका निकाल लिया. पुलिस ने एक भाजपा नेता को कथित विकास दुबे से व्हाट्सएप कॉल से बात करवाई और उस फोन का स्पीकर ऑन कर दूसरे फोन से दोनों की बातचीत रिकॉर्ड कर ली थी.
गौरतलब है कि विकास दुबे ने मध्य प्रदेश के उज्जैन में एक मंदिर में खुद को गिरफ्तार करवाया था. इससे पहले उसकी लोकेशन हरियाणा में मिली थी. वह एक होटल के सीसीटीवी कैमरे में कैद हुआ था, जिसकी फुटेज सामने आई थी.
The post विकास दुबे को पता था कॉल हो सकती ट्रेस, साथियों से बात करने का अपनाया ये तरीका appeared first on AKHBAAR TIMES.