डॉक्टर कफील खान मामलाः सुप्रीम कोर्ट ने इलाहाबाद हाईकोर्ट को दिया ये निर्देश, कहा 15 दिन में…

Share and Spread the love

गोरखपुर के बाबा राघवदास मेडिकल कॉलेज के पूर्व डॉक्टर कफील खान को उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत मथुरा जेल में बंद कर रखा है. उनपर नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ भड़काऊ भाषण देने का आरोप है.
आज सुप्रीमकोर्ट में इस मामले को लेकर सुनवाई हुई. सर्वोच्य अदालत ने इलाहाबाद हाईकोर्ट से कहा है कि वह इस मामले की मेरिट पर तेजी से सुनवाई करे और 15 दिन के अंदर ये तय करे कि डॉक्टर कफील खान को रिहा किया जा सकता है या नहीं.
उनकी रिहाई को लेकर सोशल मीडिया पर काफी दिनों से अभियान चल रहा है मगर शुरूआत में किसी भी राजनैतिक पार्टी ने खुलकर उनका समर्थन नहीं किया था. बीते कुछ दिनों से कांग्रेस पार्टी उनके समर्थन में खुलकर आ गई और उनकी रिहाई की मांग के लिए आंदोलन चला दिया.

इस अभियान के तहत अगले 15 दिनों तक कांग्रेस कार्यकर्ता घर-घर जाकर उनके समर्थन में हस्ताक्षर अभियान, सोशल मीडिया पर अभियान, मजारों पर चादरपोशी और रक्तदान जैसे कार्यक्रमों का आयोजन कर रही है.
बता दें कि डॉक्टर कफील खान अगस्त 2017 में गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की कमी से हो रही बच्चों की मौत के मामले के बाद चर्चा में आए थे. पहले तो उनके काम की खूब तारीफें हो रही थी मगर बाद में सरकार की नजरें उनपर टेढ़ी हो गई और उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया. हालांकि बाद में वो निर्दोष साबित हुए.
The post डॉक्टर कफील खान मामलाः सुप्रीम कोर्ट ने इलाहाबाद हाईकोर्ट को दिया ये निर्देश, कहा 15 दिन में… appeared first on AKHBAAR TIMES.