स्मार्ट मीटर के नाम पर घोटाला, सरकार ने जन्माष्टमी के दिन घरों में अंधेरा कर दियाः अखिलेश

Share and Spread the love

समाजवादी पार्टी के मुखिया और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने स्मार्ट मीटर पावर कट मामले को लेकर सूबे की योगी सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि भाजपा सरकार ने श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के दिन लाखों लोगों के घरों में अंधेरा कर दिया. त्यौहार के दिन लोगों की खुशियों पर पानी डालने वाला ये काम पहली बार हुआ है. जनता की श्रद्धा और आस्था के साथ ऐसा खिलवाड़ पहले कभी नहीं हुआ.
अखिलेश यादव ने कहा कि स्मार्ट मीटर के नाम पर बड़ा घोटाला हुआ है. 12 अगस्त 2020 को राजधानी लखनऊ सहित प्रधानमंत्री के निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी तथा मुख्यमंत्री के गृह जनपद गोरखपुर तक में उपभोक्ता बिना बिजली परेशान रहे. मेरठ, मथुरा, प्रयागराज, सहारनपुर, फिरोजाबाद, अलीगढ़, बरेली में घरों की बिजली गुल हुई.
उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में त्योहारों पर पर्याप्त बिजली आपूर्ति के बड़े-बड़े दावों का झूठ सामने आ गया है. दोपहर लगभग 03ः00 बजे बिजली की आपूर्ति बन्द हो गई और रात तक भी कई जनपदों में स्थिति सामान्य नहीं हो सकी. ऊर्जामंत्री, उपमुख्यमंत्री, तक के इलाके भी अंधेरे में डूबे रहे.
IMAGE CREDIT-SOCIAL MEDIAअखिलेश यादव ने कहा कि जो स्मार्ट मीटर लगे हैं उनकी गुणवत्ता पर संदेह है. उस सम्बंध में मुख्यमंत्री जी तक शिकायतें पहुंची पर कोई कार्यवाही नहीं हुई है. जांच होने पर सच्चाई का पता चल जायेगा. स्मार्ट मीटर के नाम पर कितना घोटाला हुआ है इसकी पोल-पट्टी सार्वजिनक होनी चाहिए. इतने बड़े काण्ड के लिए कौन जिम्मेदार है? अब तक तो कोई जांच या कार्यवाही नहीं हुई है, यह भाजपा राज में घोटाले का नया मामला तो नहीं है?
उन्होंने कहा समाजवादी पार्टी की मांग है कि स्मार्ट मीटर तुरन्त हटवाये जाए तथा तेजी से दौड रहे इन मीटरों के जरिये उपभोक्ताओं की हुई लूट की भरपाई सरकार करें. उपभोक्ताओं के छः महीनों के बिजली के बिल माफ किये जाये. किसानों के ट्यूबवेलों से सभी प्रकार के मीटर हटाकर पहले की तरह ही व्यवस्था बहाल की जाए.
The post स्मार्ट मीटर के नाम पर घोटाला, सरकार ने जन्माष्टमी के दिन घरों में अंधेरा कर दियाः अखिलेश appeared first on AKHBAAR TIMES.