भारत से एक दिन पहले 14 अगस्त को पाकिस्तान क्यों मनाता है आजादी?

Share and Spread the love

पाकिस्तान में स्वतंत्रता दिवस का आयोजन हर साल 14 अगस्त को होता है. जबकि भारत में 15 अगस्त को आजादी का आयोजन होता है. हालांकि दोनों देश एक साथ आजाद हुए थे. ऐसे में सवाल उठता है कि पाकिस्तान आजादी का जश्न भारत से एक दिन पहले क्यों मनाता है?
इंडियन इंडिपेंडेंस एक्ट को ब्रिटेन के छठे राजा ने 18 जुलाई 1947 को प्रमाणित किया था. इस एक्ट की एक प्रति पाकिस्तान सेक्रेटरी जनरल चौधरी मोहम्मद अली ने 24 जुलाई 1947 को कायद-ए-आजम को भेजी. इस कानून में लिखा है कि 15 अगस्त 1947 से ब्रिटिश भारत में दो स्वतंत्र देश बनाए जाएंगे जो भारत और पाकिस्तान के नाम से जाने जाएंगे.
ब्रिटिश सरकार की ओर से ऐलान किया गया कि पाकिस्तान और भारत दोनों एक ही समय यानी 15 अगस्त 1947 को जीरो आवर पर स्वतंत्र होंगे. लेकिन इस बीच एक मुश्किल खड़ी हो गयी. लार्ड माउंट बेटन को 14 और 15 अगस्त 1947 की आधी रात को नयी दिल्ली में भारत की स्वतंत्रता का ऐलान करना था. जिसका बाद में हल निकला गया और लार्ड माउंट बेटन 13 अगस्त 1947 को कराची आए.
14 अगस्त 1947 की सुबह पाकिस्तान की संविधान सभा को लार्ड माउंटबेटन ने संबोधित किया. उन्होंने ऐलान करते हुए कहा कि इस रात यानि 14 और 15 अगस्त 1947 की आधी रात को पाकिस्तान एक आजाद देश बन जाएगा.
14 और 15 अगस्त 1947 की आधी रात को लाहौर, पेशावर और ढाका स्टेशनों से रात 11 बजे ऑल इंडिया रेडियो ने अपना आखिरी ऐलान प्रसारित किया. जिसके बाद 12 बजे से कुछ क्षण पहले रेडियो पाकिस्तान की सिग्नेचर ट्यून बजाई गयी. ठीक 12 बजे कहा गया कि यह पाकिस्तान ब्रोडकास्टिंग सर्विस है.
15 अगस्त की सुबह जिन्ना का भाषण प्रसारित किया गया. जिसमें वह कहते हैं कि बहुत ही ख़ुशी और भावनाओं के साथ मैं आपको बधाई देता हूं. 15 अगस्त स्वतंत्रता और संप्रभु पाकिस्तान के जन्म का दिन है.
15 अगस्त को ही पाकिस्तान का पहला राजपत्र जारी हुआ, जिसमें पाकिस्तान के गवर्नर जनरल के तौर पर मोहम्मद अली जिन्ना की नियुक्ति और उसी दिन से उनके पद संभालने की सूचना थी. 1948 में पाकिस्तान के डाक टिकट जारी हुए. उन पर भी पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस की तारीख 15 अगस्त 1947 लिखी गयी थी.
यानि इस सब से साफ होता है कि पाकिस्तान 14 अगस्त को नहीं बल्कि 15 अगस्त को ही आजाद हुआ था. ऐसे में सवाल उठता है कि फिर पाकिस्तान के आजादी का दिन 15 अगस्त से 14 अगस्त कब हुआ?
29 जून 1948 को कराची में प्रधानमंत्री नवाबजादा लियाकत अली खान की अध्यक्षता में कैबिनेट की एक बैठक हुई. बैठक में निर्णय लिया गया कि पाकिस्तान का पहला स्वतंत्रता दिवस समारोह 15 अगस्त 1948 की बजाय 14 अगस्त 1948 को मनाया जाए. जिन्ना ने भी इस फैसले का समर्थन किया और फिर 14 अगस्त 1948 को ही पाकिस्तान का पहला स्वतंत्रता दिवस मनाया गया.
भले ही पाकिस्तान ने अपनी आजादी की तारीख को बदल दिया हो लेकिन हकीकत यही है कि पाकिस्तान 15 अगस्त 1947 को ही अस्तित्व में आया और यही उसकी आजादी की तारीख है.
The post भारत से एक दिन पहले 14 अगस्त को पाकिस्तान क्यों मनाता है आजादी? appeared first on AKHBAAR TIMES.