कोरोना संकट के बीच महाराष्ट्र में सीएम की ‘कुर्सी’ पर संशय, उद्धव ठाकरे ने पीएम मोदी से की बात

Share and Spread the love

कोरोना वायरस के कहर के बीच महाराष्ट्र में राजनीतिक संकट भी एक बार फिर से दिखाई दे रहा है. इस समय सूबे के मुख्यमंत्री किसी भी सदन में सदस्य नहीं हैं, ऐसे में उन्हें 6 महीने के किसी एक सदन की सदस्यता लेनी होगी. इसी क्रम में उद्धव ठाकरे ने राज्यपाल कोटा से विधान परिषद जाने का प्रस्ताव पारित कराया.
लेकिन अभी तक राज्यपाल की ओर से कोई संदेश ना आने के काम ठाकरे ने पीएम मोदी से बात की. इस पर पीएम मोदी ने कहा कि ठीक है देखते हैं. गौरतलब है कि कोरोना के चलते देश में सभी तरह के चुनाव इस समय रद्द कर दिए गए हैं. जिस कारण महाराष्ट्र में विधान परिषद के चुनाव नहीं हो सकते हैं.
Image credit- social mediaइसलिए अब उद्धव ठाकरे के पास एक ही उपाय बचता है. कि राज्यपाल उन्हें मनोनीत कर दें, लेकिन महाराष्ट्र के राजनीतिक परिद्रश्य को देखते हुए ऐसा लग नहीं रहा है कि राज्यपाल ऐसा कुछ करने वाले हैं. अगर उद्धव ठाकरे को जल्द ही एमएलसी के पद के लिए मनोनीत नहीं किया गया तो महाराष्ट्र की विकास अघाड़ी सरकार गिर जाएगी.
इसके बाद उद्धव को इस्तीफा देना पड़ सकता है. चुंकि इस समय कोरोना की वजह से किसी भी तरह से कोई चुनाव नहीं हो सकते इसलिए अब उनके पास एक ही उम्मीद बची है. कि राज्यपाल उन्हें मनोनीत करें लेकिन राज्यपाल ने उनके इस प्रस्ताव को ठंडे बस्ते में डाल दिया है. जिससे उद्धव ठाकरे की चिंता को और बढ़ा दिया है.
The post कोरोना संकट के बीच महाराष्ट्र में सीएम की ‘कुर्सी’ पर संशय, उद्धव ठाकरे ने पीएम मोदी से की बात appeared first on AKHBAAR TIMES.