पीएम मोदी के झंडारोहण के दौरान लाल किले पर तैनात किया गया था ये घातक हथियार

Share and Spread the love

Image credit-ANIदेश के 74वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर हमेशा की तरह इस बार भी भारत के प्रधानमंत्री लालकिला पहुंचे और झंडारोहण किया. ये हमारे देश की परंपरा है कि हर साल 15 अगस्त व 26 जनवरी के अवसर पर पीएम लाल किले पर झंडा फहराते हैं.
इस दौरान लालकिले के आसपास सुरक्षा व्यवस्था के चाक चौबंद इंतेजाम किए जाते हैं. ऐसी तैयारी की जाती है कि परिंदा भी पर न मार सके. इस बार लाल किले के आसपास एक विशेष हथियार एंटी ड्रोन सिस्टम की तैनाती भी की गई थी.
image credit: gettyजानकारी के मुताबिक इस सिस्टम की मदद से छोटे से छोटे ड्रोन की पहचान कर उसे मार गिराया जा सकता है. बताया जा रहा हे कि ये सिस्टम 3 किलोमीटर के दायरे में ड्रोन की पहचान कर लेता है और एक से डेढ़ किलोमीटर के दायरे में आने पर उसे मार गिरा सकता है.
इस सिस्टम को डीआरडीओ ने विशेष तौर पर पीएम मोदी की सुरक्षा के लिए तैयार किया है. ये सिस्टम लेजर प्रणाली के तहत काम करता है. इस खास डिवाइस की मदद से ड्रोन को निष्क्रिय करने के अलावा उसे अपने कंट्रोल में भी किया सकता है. ड्रोन हमलों के खिलाफ ये डिवाइस बेहद कारगर मानी जा रही है.

DRDO-developed anti-drone system deployed near Red Fort today on #IndependenceDay. The system can detect and jam micro drones up to 3 kilometres and use laser to bring down a target up to 1-2.5 kilometres depending on the wattage of laser weapon. pic.twitter.com/uyraH5XNzF
— ANI (@ANI) August 15, 2020

The post पीएम मोदी के झंडारोहण के दौरान लाल किले पर तैनात किया गया था ये घातक हथियार appeared first on AKHBAAR TIMES.