WHO ने कहा- कोरोना वैक्सीन के भरोसे न बैठे, कोई देश सेफ नहीं

Share and Spread the love

रसिया के कोरोना वैक्सीन हासिल करने के दावे के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त को लाल किले की प्राचीर से अपने संबोधन में बताया कि देश में तीन कोरोना वैक्सीन का ट्रायल चल रहा है. वहीं इसके अलावा दो और कम्पनियों से बात हुई. इन कम्पनियों से कहा गया है कि तीन दिन के अंदर बताएं कि अगर उनकी वैक्सीन को मंजूरी मिलती है तो कितनी जल्दी और किस कीमत पर वैक्सीन तैयार कर दे सकती हैं.
हालांकि भारत ने अभी तक किसी कंपनी से डील नहीं की है. कोरोना वैक्सीन को लेकर बने एक्सपर्ट ग्रुप ने सोमवार को देश की दिग्गज फार्म कम्पनियों के प्रमुखों से मुलाकात की थी.
इस बीच वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन ने कहा कि देशों को सिर्फ कोरोना वैक्सीन के भरोसे ही नहीं बैठना चाहिए, बल्कि कोविड-19 के प्रति अपनी प्रतिक्रिया को बेहतर करने पर ध्यान दें.
डब्लूएचओ के वेस्टर्न पैसिफिक रीजनल डायरेक्टर ताकेशी कसई के मुताबिक वैक्सीन पर ज्यादा निर्भर न रहें क्योंकि शुरुआत में ज्यादा डिमांड के चलते उसकी पर्याप्त सप्लाई नहीं हो पाएगी. उन्होंने कहा कि जब तक सारे देश प्रोटेक्ट नहीं होते, कोई देश सेफ नहीं है. हमें अपने रेस्पांस को बेहतर करने पर ध्यान देना चाहिए, सिर्फ वैक्सीन से उम्मीद मत लगाइए.
वहीं मीटिंग के बाद केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने बताया कि एक तरफ वैज्ञानिक कोविड-19 वैक्सीन तैयार करने की दिशा में काम कर रहे हैं तो हम भी फाइनल प्रोडक्ट हासिल करने में लगे हैं. ताकि लोगों क एलिए टीके की उपलब्धता सुनिश्चित हो सके.
भारत बायोटेक और आईसीएमआर ने मिलकर जो वैक्सीन तैयार की है. उसका फेज 1 का ट्रायल पूरा हो चुका है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस फेस में किसी भी वालंटियर में वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स नहीं देखे गए हैं.
The post WHO ने कहा- कोरोना वैक्सीन के भरोसे न बैठे, कोई देश सेफ नहीं appeared first on AKHBAAR TIMES.