रेलवे प्लेटफॉर्म टिकट 50 रूपये होने अपर मचा बवाल, तो रेलवे ने बताई वजह

Share and Spread the love

image credit: social-mediaरेलवे के पुणे डिवीजन में प्लेटफॉर्म टिकट की कीमत को अचानक पांच गुना बढ़ा दिया गया है. अब प्लेटफॉर्म टिकट के लिए 50 रूपये चुकाने होंगे. सोशल मीडिया पर 50 रूपये की प्लेटफॉर्म टिकट की एक तस्वीर जमकर वायरल हो रही है. अचानक प्लेटफार्म के टिकट में हुई पांच गुना बढ़ोतरी पर सियासी गलियारे में भी इस पर चर्चा शुरू हो गयी.
इस बीच रेलवे की ओर से बढ़ी कीमत पर सफाई दी गयी है. रेलवे की ओर से कहा गया है कि कोरोना महामारी को देखते हुए प्लेटफार्म टिकट की कीमत को बढ़ाकर 50 रूपये किया गया है.
रेलवे के प्रवक्ता ने ट्वीट कर बताया कि पुणे जंक्शन द्वारा प्लेटफॉर्म टिकट का मूल्य 50 रूपये रखने का उद्येश्य अनावश्यक रूप से स्टेशन पर आने वालों पर रोक लगाना है जिससे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा सके. रेलवे प्लेटफॉर्म टिकट की दरों को कोरोना महामारी के शुरुआती दिनों से ही इसी प्रकार नियंत्रित करता आया है.
पुणे स्टेशन पर प्लेटफॉर्म टिकट की कीमत बढ़ने पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर बीजेपी को निशाने पर लिया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस राज में रेलवे प्लेटफार्म टिकट 3 रूपये का था. भाजपा के राज में 50 रूपये का हो गया है.

कॉंग्रेस राज में रेलवे प्लेटफ़ॉर्म टिकिट ₹३ का भाजपा राज ₹५० हुआ। जय सियाराम। pic.twitter.com/xjUEPoCv5H
— digvijaya singh (@digvijaya_28) August 18, 2020

रेलवे का प्लेटफार्म टिकट 2 घंटे तक के लिए ही वैलिड होता है. यानि इससे ज्यादा समय तक रुकने पर जुर्माना देना पड़ सकता है. अपने किसी संबंधी को छोड़ने जाने या लेने जाने पर प्लेटफार्म टिकट खरीदना पड़ता है.
The post रेलवे प्लेटफॉर्म टिकट 50 रूपये होने अपर मचा बवाल, तो रेलवे ने बताई वजह appeared first on AKHBAAR TIMES.