उत्तर प्रदेश में बाढ़ से ग्रामीण और किसान बेहाल, फसलें तबाह, सरकार बेपरवाहः अखिलेश यादव

Share and Spread the love

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश के कई जिलों में आई बाढ़ का जिक्र करते हुए सूबे की योगी सरकार पर जमकर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि बाढ़ से ग्रामीण, किसान परेशान हैं, फसलें बर्बाद हो रही हैं, पशुधन का भी नुकसान हो रहा है, सरकार इन सबसे बेपरवाह है.
अखिलेश यादव ने कहा कि कई जनपदों में नदियों में उफान से गांव के गांव डूब गए हैं, फसलें बर्बाद हो गई हैं. इससे पहले किसान ओलावृष्टि, अतिवृष्टि का शिकार हो चुका है, उसे अपनी चौपट फसलों का अभी तक मुआवजा भी नहीं मिला है. पशुधन का नुकसान अलग से हुआ है. जब चारों ओर तबाही मच गई है तब मुख्यमंत्री जी राज्य के जिलाधिकारियों से बैठक कर महज औपचारिकता निभाने की खानापूर्ति कर रहे हैं.
उन्होंने कहा कि पलियाकलॉ (लखीमपुरखीरी) में शारदा नदी, तूतीपार (बलिया) एलगिन ब्रिज और अयोध्या में सरयू (घाघरा नदी) खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. बहराइच के 85 गांवों में पानी भरा है, 25 दिनों से बाढ़ग्रस्त इलाकों में लोग फंसे हुए हैं, बाराबंकी में खेत-खलिहान सब जलमग्न है, राहत में सड़े आलू दिए गए हैं, गाजियाबाद में पानी पुलिस चौकी तक में घुस गया, हापुड़ में तीस किलोमीटर तक पानी ही पानी दिखाई दे रहा है, श्रावस्ती में राप्ती नदी उफान पर है.
Image credit- social mediaअखिलेश यादव ने कहा कि गोण्डा में घाघरा नदी की बाढ़ में सैकड़ों गांव फंसे हैं. करनैलगंज में 2 हजार की आबादी इसकी चपेट में है, बहराइच में सरयू नदी उफान पर है जिससे 70 गांव डूब गए है, देवरिया में हजारों बीघा जमीन पानी में डूब गई है, कासगंज में बाढ़ से भारी नुकसान हुआ है, बस्ती में सरयू नदी का कहर है, आजमगढ़ में तमाम मकान जलभराव से गिर गए हैं.
सपा मुखिया ने कहा कि जलभराव और घरों में पानी से बीमारियों का खतरा उत्पन्न हो गया है. इस सबसे सरकार बेपरवाह है. भाजपा का एजेण्डा पीड़ितों से दूर ही दूर रहता है. गांवों की बदहाली में भी भाजपा सरकार अपना राजनीतिक स्वार्थ साधन करने से नही चूक रही है. यह संवेदनशून्यता की पराकाष्ठा है.
The post उत्तर प्रदेश में बाढ़ से ग्रामीण और किसान बेहाल, फसलें तबाह, सरकार बेपरवाहः अखिलेश यादव appeared first on AKHBAAR TIMES.