बिहारः मांझी फैक्टर की काट के लिए राजद ने चल दिया ये बड़ा दांव, इन चार नेताओं को किया आगे

Share and Spread the love

बिहार विधानसभा चुनाव में भले ही अभी समय हो मगर चुनाव से पहले दल बदल और पाला बदलने का खेल तेज हो गया है. हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के प्रमुख जीतन राम मांझी ने कल बिहार महागठबंधन से अलग होने का एलान कर दिया. माना जा रहा है कि उनके इस कदम से महागठबंधन को नुकसान हो सकता है.
राजद ने मांझी फैक्टर की काट के लिए अब नया दांव चल दिया है. आज राजद के चार नेताओं ने एकसाथ नितीश सरकार पर आरोपों की झड़ी लगा दी. ये सभी नेता पिछड़े वर्ग से ताल्लुक रखते हैं.
राजद ने जिन नेताओं को आगे किया उनमें पूर्व विधानसभा अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी, पूर्व मंत्री रमई राम, पूर्व मंत्री शिवचंद्र राम, श्याम रजक और सम्राट चौधरी हैं.

राजद के तीन दलित नेताओं श्याम रजक, उदय नारायण चौधरी और रमई राम ने प्रेस कांफ्रेंस कर मांझी और जेडीयू को ये संदेश दे दिया कि महागठबंधन पर कोई असर नहीं पड़ेगा.
उदय नारायण ने कहा कि नितीश सरकार पिछड़ी जातियों के खिलाफ लगातार काम कर रही है. पिछड़ी जाति के अधिकारियों पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाकर जेल भेजा जा रहा है. श्याम रजक ने कहा कि मौजूदा सरकार ने पिछड़ी जाति के लोगों के साथ अन्याय किया है.
पूर्व मंत्री शिवचंद्र राम ने कहा कि नितीश कुमार ने दलितों को रिझाने के लिए महादलित आयोग का गठन किया मगर आज तक उसमें अध्यक्ष तक नियुक्त नहीं किया गया.
The post बिहारः मांझी फैक्टर की काट के लिए राजद ने चल दिया ये बड़ा दांव, इन चार नेताओं को किया आगे appeared first on AKHBAAR TIMES.