जिस लैपटॉप योजना का भाजपा ने मजाक बनाया, कोरोना काल में वही काम आ रहीः अखिलेश

Share and Spread the love

File picसमाजवादी पार्टी के मुखिया और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कोरोना काल के दौरान प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए कहा कि सपा सरकार ने जो संरचनात्मक विकास के काम किए थे भाजपा सरकार ने उसे आगे बढ़ाने के बजाए उनमें अवरोध पैदा करने का काम किया है.
अखिलेश यादव ने कहा कि आज शिक्षा जगत के सामने कई गम्भीर चुनौतियां है. भाजपा सरकार उनके हल निकालने के बजाय मनमाने निर्णय थोप रही है. उन्होंने कहा जैसे बिना तैयारी के नोटबंदी, जीएसटी के निर्णय हुए थे वैसे ही छात्रों के लिए आनलाइन शिक्षा की व्यवस्था के परिणाम अच्छे नहीं आ रहे हैं. यह अव्यवहारिक व अदूरदर्शी कदम है.
सपा मुखिया ने कहा कि प्रदेश में मार्च से ही स्कूल कालेज कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण बंद है. स्कूली बच्चों को कोविड-19 से सबसे ज्यादा खतरा है, इसलिए शिक्षा के उच्च अधिकारियों ने आनलाइन शिक्षा देने का तरीका खोज निकाला है. यह व्यवस्था कम्प्यूटर, लैपटाप या स्मार्टफोन के बगैर चलने वाली नहीं है.

अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी सरकार ने भविष्य की संभावनाओं के मद्देनज़र छात्र-छात्राओं को 18 लाख लैपटाप बांटे थे. स्मार्टफोन देने का भी वादा था. भाजपा सरकार में आते ही इस योजना को बंद कर दिया गया. भाजपा वाले तब इनका मजाक उड़ाते थे आज वही बुनियादी जरूरत बन गए हैं.
उन्होंने कहा कि आखिर आनलाइन शिक्षा कैसे सफल होगी जब केवल 27 प्रतिशत बच्चों के पास लैपटाप या स्मार्टफोन है. वाईफाई सुविधा भी सुलभ नहीं है. प्रदेश में बिजली की हालत भी दयनीय है. आधे से ज्यादा बच्चों के लिए बिजली की उपलब्धता भी समस्या है. गांवों में ही नहीं शहरों में भी बिजली की आवाजाही अनिश्चित रहती है.
The post जिस लैपटॉप योजना का भाजपा ने मजाक बनाया, कोरोना काल में वही काम आ रहीः अखिलेश appeared first on AKHBAAR TIMES.