मोहर्रम में ताजिये पर लगी रोक के खिलाफ मौलाना कल्बे जव्वाद धरने पर बैठे, उठाई ये मांग

Share and Spread the love

मोहर्रम के महीने में ताजिये और मजलिस मातम पर रोक के खिलाफ मौलाना कल्बे जव्वाद आज लखनऊ के ऐतिहासिक गुफरामाब इमामबाड़े में अनिश्चितकालीन धरने पर बैठ गए. उन्होंने कहा कि सरकार कोरोना की आड़ में मनमाने फैसले कर रही है और कोरोना नियमों का हवाला देकर ताजिये पर रोक लगा रही है.
धरने से पहले प्रेसवार्ता के दौरान उन्होंने कहा कि हम लगातार केंद्र और राज्य सरकार से मांग कर रहे थे कि हमें कोरोना नियमों के मुताबिक की मोहर्रम में आजादारी करने की अनुमति दी जाए मगर सरकार ने मनमाने फैसले लेते हुए मोहर्रम में सभी कामों पर रोक लगा दी.
मौलाना कल्बे जव्वाद ने कहा कि होटलों पर 50 आदमियों को एक साथ खाने की इजाजत है मगर हमें कोरोना नियमों के पालन के साथ मोहर्रम मनाने की इजाजत नहीं है. उन्होंने कहा कि सरकार जो भी नियम लागू करेगी हम उसे मानने को तैयार हैं मगर किसी भी काम पर पूरी तरह से रोक लगा देना ठीक नहीं है.

मौलाना ने कहा कि सरकार घरों में ताजिये रखने पर रोक लगा रही है जोकि पूरी तरह से गलत है. बदायूं की एक घटना का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि पुलिस ने एक शख्स को घर में ताजिया रखने के आरोप में नोटिस देते हुए कार्रवाई की बात कही है. मौलाना ने कहा कि सरकार बताए घरों में ताजिया रखना कहां से गलत है.
उन्होंने कहा कि सभी लोगों को अपनी पूजा पद्धति के अनुसार घरों में हर काम करने की इजाजत है. हिंदू भाईयों को घर में मूर्ति और मुसलमानों के घरों में ताजिया रखने पर सरकार की रोक का फैसला पूरी तरह से मनमाना और नियमों के खिलाफ है.
मौलाना कल्बे जव्वाद ने सरकार से ये मांग की है कि वो कोरोना नियमों और सोशल डिस्टेंसिंग के साथ हमें मोहर्रम मनाने की अनुमति दे, जबतक अनुमति नहीं मिलती है तब तक हम धरने पर बैठे रहेंगे. आगे की रणनीति का एलान विचार विमर्श करके बाद में किया जाएगा.
The post मोहर्रम में ताजिये पर लगी रोक के खिलाफ मौलाना कल्बे जव्वाद धरने पर बैठे, उठाई ये मांग appeared first on AKHBAAR TIMES.