धर्मपरिवर्तन कर दो बच्चों की माँ हरजिंदर कौर बनी गुलिस्तां, बच्चो की कराई खतना

Share and Spread the love

रामपुर

धर्मपरिवर्तन कर उत्तराखंड की हरजिंदर कौर रामपुर में आकर गुलिस्तां बन गई। हालाकि उनका कहना है कि उन्होंने जो किया अपनी मर्ज़ी से किया। यही नही निकाह के बाद उनके दोनो बच्चो की खतना भी कर दी गई। मामले में उत्तर प्रदेश विधि विरुद्ध धर्म संपरिवर्तन प्रतिषेध अध्यादेश-2020 के तहत 5 पर एफआईआर दर्ज हुई है।पुलिस ने 3 लोगो को गिरफ्तार कर लिया है।

थाना शाहाबाद इलाके के महफूज़ जो कि पेशे से ट्रक ड्राइवर है। महफूज़ पर आरोप है कि महिला का धर्म परिवर्तन कराकर निकाह कर लिया है। निकाह के बाद दोनों बच्चो की खतना भी कर दी गई। महिला हरजिंदर कौर ओर उसके 2 बेटे राहुल ओर सुमित है।महिला के पति हरकेश की उत्तराखंड के जसपुर में 8 मई 2021 को सड़क दुर्घटना में मौत हो गई थी। निकाह के बाद हरजिंदर कौर का नाम गुलिस्तां ओर उसके बेटे राहुल का नाम फरमान, सुमित का नाम अनस रख दिया गया।

हरजिंदर कौर ने बताया कि मैने अपनी रज़ा मंदी से करवाया है। बच्चो का भी।मुझे कुछ भी नही करवाना है। मेने अपनी मर्ज़ी से करी है। मेने घर पर भी कहा था अगर कोई गलती हो गई है कोई बात नही ये यहा ले आएं मेने कहा कि जो भी हो खर्चा पानी ले लो। अब इतना कुछ हो गया और जब सहारा पूरा दे रखा है तो में इन्हें कैसे छोड़ दूगी।हरजिंदर कौर ने बताया कि उनकी पहले शादी हुई थी। उनके पति खत्म हो गए थे। उसको परिवार में खतरा होना शुरू हो गया। देवर जेट ने कहा कि पैसे दे। बच्चो को पालेगे तुझे मार देंगे।और बहन भाइयों से सब ने कह दिया तो 12 दिन छिप छिपाकर कर रही।

हरजिंदर कौर के बेटे राहुल ने बताया कि वो उत्तराखंड के बाजपुर में रहते थे। ये सब उन्होंने अपनी खुशी से किया है। तया ताई अम्मी को मारकर उनसे पैसे छीन लेना चाहते थे।

महफूज़ की मां मुमताज़ ने बताया कि हमने इस महिला से मना किया लेकिन ये महिला नही मानी बोली में पीछा नही छोडूगी। अब जुमेरात के दिन निकाह हुई और परसो खतने हुई है। सब कुछ इनकी रज़ा मंदी से हुआ है।इनकी मा ओर बच्चो की रजामंदी से हुआ है। अगर हमने कोई ज़बरदस्ती की हो तो जो चोर का हाल हो हमारा हाल करना।

मामले में 5 लोगो पर एफआईआर दर्ज की गई है। जिसमे महफूज़,अंजार,मुमताज,अख्तर ओर इमाम है।उत्तरप्रदेश विधि विरुद्ध धर्म संपरिवर्तन प्रतिषेध अधियादेश 2020 की धारा 3 ओर 5 (1) के साथ भारतीय दंड संहिता की धारा 324 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है।

क्या कहते है नियम कानून

उत्तर प्रदेश विधि विरुद्ध धर्म संपरिवर्तन प्रतिषेध अध्यादेश-2020 के अनुसार, ऐसे विवाह के लिए जिसमें धर्म परिवर्तन होना हो, विहित प्राधिकारी यानी डीएम से अनुमति लेना होती है। दो माह पूर्व में सूचना देनी होती है।

अपर पुलिस अधीक्षक संसार सिंह ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली कि थाना शाहाबाद के गांव में एक बाहरी महिला को लाकर उनका धर्म परिवर्तन कराया गया है,लालच वर्ष ये कार्य किया गया है। इस सम्बंध में पुलिस द्वारा मुकदमा दर्ज कर 3 लोगो को गुरफ्तार कर लिया गया है। आगे की कार्यवाही की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *