प्रधानमंत्री के संबोधन के बाद अखिलेश यादव ने पूछा सवाल, सड़कों पर भटक रहे मजदूरों के लिए एक-आध…

Share and Spread the love

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को शाम आठ बजे देश को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने 20 लाख करोड़ के विशेष आर्थिक पैकेज की घोषणा की. उन्होंने बताया कि इससे हर वर्ग को राहत मिलेगी. इसके साथ ही ये भी स्पष्ट किया कि लॉकडाउन 17 मई के बाद भी जारी रहेगा. हालांकि उन्होंने कहा कि लॉकडाउन 4.0 एक अलग तरह का होगा.
प्रधानमंत्री मोदी ने अपने अभिभाषण में कई पहलुओं को छुआ, मगर कई पहलु ऐसे भी रहे जिन पर उन्होंने बात नहीं की, पर लोग उम्मीद लगाए बैठे थे. इसी को लेकर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सवाल खड़ा किया है.
सपा अध्यक्ष ने कहा कि सड़कों पर भटकते मजदूरों के लिए एक-आध शब्द की संवेदना की भी गुंजाइश नहीं थी. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि देश के मजदूर-गरीब अपनी विपदाओं के लिए प्रबंध की उम्मीद कर रहे थे, लेकिन उन्हें सुनने को मिला केवल निरर्थक निबंध. क्या आधे घंटे से भी ज्यादा समय में सड़कों पर भटकते मजदूरों के लिए एक-आध शब्द की संवेदना की भी गुंजाइश नहीं थी. हर कोई सोचे. असंवेदनशील-दुर्भाग्यपूर्ण.

देश के मज़दूर-ग़रीब अपनी विपदाओं के लिए प्रबंध की उम्मीद कर रहे थे लेकिन उन्हें सुनने को मिला केवल निरर्थक निबंध. क्या आधे घंटे से भी ज़्यादा समय में सड़कों पर भटकते मज़दूरों के लिए एक-आध शब्द की संवेदना की भी गुंजाइश नहीं थी. हर कोई सोचे.
असंवेदनशील-दुर्भाग्यपूर्ण! pic.twitter.com/7PbCNtdoM8
— Akhilesh Yadav (@yadavakhilesh) May 12, 2020

गौरतलब है कि कमाने के उद्देश्य से अपना प्रदेश छोड़ अन्य राज्यों में गये मजदूर-गरीब वहां फंस कर रह गए. अब वह किसी न किसी प्रकार अपने गृह राज्य लौट रहे हैं.
The post प्रधानमंत्री के संबोधन के बाद अखिलेश यादव ने पूछा सवाल, सड़कों पर भटक रहे मजदूरों के लिए एक-आध… appeared first on AKHBAAR TIMES.