व्यथाः मासूम को सूटकेस पर सुलाया और इस तरह घसीटते हुए सफर करने को मजबूर है एक मां

Share and Spread the love

कोरोना वायरस की वजह से लॉकडाउन होने के बाद देश के गरीब और मजदूर तबके पर मानो दुखों का पहाड़ टूट पड़ा हो. कोरोना से कहीं ज्यादा भूख, परेशानी और हादसों की वजह से लोगों को अपनी जान गवांनी पड़ी है. मजदूरों के हालात बयान करने वाली रोजाना ऐसी कोई न कोई खबर आ ही आती है.
लॉकडाउन की वजह से प्रवासी मजदूरों के आगे जब रहने और खाने का संकट आया तो उन्हें अपने गांव घर की याद आई. मुश्किल की इस घड़ी में वो हर हाल में अपने घर पहुंचने के लिए सरकार की रोक के बाद निकल पड़े. रास्ते पर मजदूरों की हालत देखकर हर कोई ये कह सकता है कि हमारा सिस्टम पूरी तरह से फेल हो चुका है.
हजारों किलोमीटर का पैदल सफर कर लाखों की संख्या में मजदूर अपने घर जा रहे हें. ये नजारा देश के किसी भी हाईवे पर आसानी से देखा जा सकता है. इनमें महिलाएं, बच्चें भी शामिल हैं. इस दौरान उन्हें कितनी मुसीबतों का सामना करना पड़ा ये बयान करना मुश्किल है.

ऐसा ही एक वीडियो सामने बाया है जिसमें एक मां अपने मासूम बच्चे को सूटकेस पर सुलाकर उस सूटकेस को खींचते हुए पैदल चली जा रही है.
एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक जब उस महिला से पूछा गया कि वो कहां जा रही है तो उसने बताया कि झांसी. जब उनसे ये पूछा गया कि आप सरकार द्वारा चलाई बसों और ट्रेनों से क्यों नहीं जा रहे हैं तो उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया. बताया जा रहा है कि मजदूरों का ये समूह पंजाब से पैदल चलकर उत्तर प्रदेश के झांसी जा रहा है.

In a heartbreaking video, a little boy is seen asleep on a suitcase as his migrant parents take a long journey home from Punjab to Uttar Pradesh#MigrantLabourers #CorornavirusLockdown pic.twitter.com/FmEpzGNJQy
— NDTV (@ndtv) May 14, 2020

The post व्यथाः मासूम को सूटकेस पर सुलाया और इस तरह घसीटते हुए सफर करने को मजबूर है एक मां appeared first on AKHBAAR TIMES.