प्राइवेट स्कूल फीस के लिए बना रहे दबाव, सरकार करे कार्रवाईः लखन गुर्जर रांकौली

Share and Spread the love

कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते लॉकडाउन की वजह से अमीर हो या गरीब हर वर्ग के लोगों को नुकसान का सामना करना पड़ा है. लॉकडाउन के चलते बीते 50 से अधिक दिनों से कारोबार पूरी तरह ठप है.
सबसे ज्यादा परेशानी रोजाना कमाने वालों को है. लोगों की इसी परेशानी के चलते सरकारों ने ये अपील की थी कि मकान मालिक अपने किराएदारों से किराया और स्कूल वाले फीस के लिए लोगों पर दबाव न बनाएं. सरकार की इस अपील का खास असर होता दिखाई नहीं दे रहा है.
गुर्जर स्वाभिमान संघ के प्रदेश अध्यक्ष लखन गुर्जर रांकौली ने स्कूलों द्वारा फीस वसूली के मुद्दे पर कहा है कि सरकार को इसका संज्ञान लेते हुए कार्रवाई करनी चाहिए.

लखन गुर्जर ने कहा कि देश आज कोरोना जैसी महामारी से गुजर रहा है, किसान, मज़दूर, की कमर टूट चुकी है, मज़दूर काम पर नहीं जा पा रहा है, ऐसे मे फीस कैसे दे पायेगे, सभी स्कूलों ने ऑनलाइन क्लास शुरू कर दी है, स्कूलो ने अभिभावकों से फीस देने के लिए दबाब बनाना भी शुरू कर दिया है.
उन्होंने कहा कि महामारी को देखते हुए प्रशासन को 6 महीने की फीस माफ़ करने का आदेश जारी करना चाइये, और ऐसे स्कूलों पर कार्यवाही करनी चाइये, जिससे लोग राहत की सांस ले, प्राइवेट स्कूल मनमानी दुकान से किताब, ड्रेस की खरीदारी करवाते है, जो बहुत महंगा पड़ता है.
The post प्राइवेट स्कूल फीस के लिए बना रहे दबाव, सरकार करे कार्रवाईः लखन गुर्जर रांकौली appeared first on AKHBAAR TIMES.