‘कर्ज और आत्मनिर्भर’ को लेकर सपा मुखिया अखिलेश यादव ने कुछ इस अंदाज में सरकार को घेरा

Share and Spread the love

Image credit- social mediaपिछले काफी समय से दूसरे आर्थिक पैकेज का इंतजार किया जा रहा था, इस बीच पीएम नरेंद्र मोदी ने लाकडाउन 3 के बीच राष्ट्र को संबोधित करते हुए कोरोना से बेहाल अर्थव्यवस्था के लिए 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की घोषणा की है.
पीएम मोदी ने इस दौरान कहा था कि इस आपदा को अवसर में बदलते हुए द्रढं संकल्प और इच्छा शक्ति के साथ आगे बढ़ने की जरुरत है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस दौरान स्पष्ट शब्दों में कहा था कि ये पैकेज आत्मनिर्भर भारत अभियान की अहम कड़ी के तौर पर काम करेगा.
इसको लेकर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने तंज कसा है कि उन्होंने विद्यार्थी और अध्यापक के बीच एक कड़ी बनाते हुए तंज कसा है.
विद्यार्थी: ‘क़र्ज़’ का अर्थ क्या होता है?
अध्यापक: जो दूसरों से अपना काम चलाने के लिए लिया जाता है.
विद्यार्थी: ‘आत्मनिर्भर’ का अर्थ क्या होता है?
अध्यापक: अपना काम चलाने के लिए ख़ुद पर निर्भर होना.
विद्यार्थी: क्या ‘क़र्ज़’ और ‘आत्मनिर्भर’ एक-दूसरे के पर्यायवाची हो सकते हैं?
अध्यापक: !?! अभी दिल्ली से पूछकर बताता हूँ…
इसके पहले अखिलेश ने प्रवासी मजदूरों को लेकर केंद्र की मोदी और राज्य की योगी सरकार को घेरा था उन्होंने कहा कि श्रमिकों को काम पर लाने के लिए तो सरकार उद्योगपतियों को पास दे रही है पर घर लौट रहे उन बेबस मज़दूरों के लिए कोई इंतज़ाम नहीं जो सड़कों पर भूखे-प्यासे मरने पर मजबूर हैं.
अब सब जान गये हैं कि ये सरकार अमीरों के साथ है और मज़दूर, किसान, ग़रीब के ख़िलाफ़ है. भाजपा की कलई खुल गई है.

The post ‘कर्ज और आत्मनिर्भर’ को लेकर सपा मुखिया अखिलेश यादव ने कुछ इस अंदाज में सरकार को घेरा appeared first on AKHBAAR TIMES.