बहलावे के खेत में, भटकावे के बीज डालकर, आकडों की खेती की जा रही, अखिलेश ने कुछ यूं कसा तंज

Share and Spread the love

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने 20 लाख करोड़ के विशेष पैकेज पर तंज कसते हुए केंद्र की मोदी सरकार को घेरा है, उन्होनें कहा कि ‘20 लाख करोड़’ के नाटकीय धारावाहिक का एक और किसान विशेष महा-एपिसोड आज दिखा.
बहलावे के खेत में, भटकावे के बीज डालकर, आँकड़ों की खेती की जा रही है, जिसे किसान न्यूनतम समर्थन भी नहीं देंगे. ये तथाकथित पैकेज राहत नहीं क़र्ज़ की नई आफ़त साबित होगा.
इसके पहले उन्होंने प्रवासी मजदूरों को लेकर सरकार को घेरा था, इस दौरान उन्होंने कहा था कि श्रमिकों का काम पर लाने के लिए तो सरकार उद्योगपतियों को पास दे रही है पर घर लौट रहे उन बेबस मजदूरों के लिए किसी प्रकार का कोई इंतजाम नहीं हैं जो सड़कों पर भूखे प्यासे रहने को मजबूर है.
अब सब जान गए हैं कि ये सरकार अमीरों के साथ हैं और मजदूर, किसान, गरीबों के खिलाफ है भाजपा की कलई खुल गई है.
कर्ज और आत्मनिर्भर को लेकर भी उन्होंने तंज कसा था, इस दौरान उन्होंने कहा था कि विद्यार्थी: ‘क़र्ज़’ का अर्थ क्या होता है?
अध्यापक: जो दूसरों से अपना काम चलाने के लिए लिया जाता है.
विद्यार्थी: ‘आत्मनिर्भर’ का अर्थ क्या होता है?
अध्यापक: अपना काम चलाने के लिए ख़ुद पर निर्भर होना.
विद्यार्थी: क्या ‘क़र्ज़’ और ‘आत्मनिर्भर’ एक-दूसरे के पर्यायवाची हो सकते हैं?
अध्यापक: !?! अभी दिल्ली से पूछकर बताता हूँ…

The post बहलावे के खेत में, भटकावे के बीज डालकर, आकडों की खेती की जा रही, अखिलेश ने कुछ यूं कसा तंज appeared first on AKHBAAR TIMES.