सपा मुखिया अखिलेश यादव ने योगी सरकार के इस आदेश को बताया ‘गरीब विरोधी’ कहा ऐसा करो..

Share and Spread the love

हाल में ही मुजफ्फरनगर और शनिवार को औरेया में हुए दर्दनाक हादसे के बाद उत्तर प्रदेश में दूसरे राज्यों से पैदल आ रहे लोगों के लिए बसें चलाने की मांग ने अब जोर पकड़ लिया है. एक ओर कांग्रेस की प्रियंका गांधी ने खुद 1000 बस चलाने की अनुमति योगी सरकार से मांगी हैं.
तो वहीं समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी सरकार से 10 हजार सरकारी बसें चलाने को कहा है. इसके अलावा योगी सरकार के उस आदेश को भी तुगलकी बताया है जिसमें कहा गया है कि अब किसी भी प्रवासी मजदूर को यूपी बार्डर में एंट्री नहीं दी जाएगी, इसको लेकर अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर निशाना साधा है.

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार का आदेश है कि प्रवासी मज़दूरों को उप्र बार्डर पर न घुसने देंगे, न सड़क या रेल ट्रैक पर चलने देंगे, न ट्रक-दुपहिया से जाने देंगे. भाजपाई ग़रीब विरोधी नीतियाँ ही लोगों को ग़ैर-क़ानूनी काम करने के लिए बाध्य कर रही हैं. ऐसा करो बाबू ग़रीब की ज़िंदगी पर ही रासुका लगा दो!
इसके पहले उन्होंने योगी सरकार से तत्काल 1000 बसें प्रवासी मजदूरों के लिए चलाने के लिए कहा था, ट्वीट कर उन्होंने लिखा कि पैदल घर पहुँचने के लिए वाहनों में विवश होकर चलने पर मजबूर व हादसों में अपनी जान गँवा रहे प्रवासी मज़दूरों को सम्मान और सुरक्षा के साथ घर पहुँचाने के लिए प्रदेश सरकार को 10 हज़ार सरकारी बसों को तत्काल चलाना चाहिए.  क्या ग़रीब का कोई हक़ नहीं होता?

The post सपा मुखिया अखिलेश यादव ने योगी सरकार के इस आदेश को बताया ‘गरीब विरोधी’ कहा ऐसा करो.. appeared first on AKHBAAR TIMES.