जब इस ‘कलियुगी श्रवण कुमार’ को पुलिस ने देखा, पुलिसवाले ने किया ऐसा काम लोग कर रहे सलाम!

Share and Spread the love

image credit-social mediaकोरोना वायरस के चलते देश में 25 मार्च से लागू लाकडाउन के बीच सोशलमीडया पर एक तस्वीर इस समय खूब वायरल हो रही है, जिसमें एक शख्स दो बच्चियों का बांस से बांधकर कंधे पर टांगकर कड़ी धूप में 1200 किलोमीटर की दूरी के लिए पैदल ही निकल पड़ा. ये लोग अपने आशियाने गृहनगर छत्तीसगढ़ जा रहे थे.
लाकडाउन के बीच ठप पड़े रोजगार और खाने-पीने की व्यवस्था के कारण ये प्रवासी मजदूर आंध्र प्रदेश से अपने घर जाने के लिए पैदल ही निकल पड़ा. ये मजदूर अपने बच्चों को कंधे पर श्रवण कुमार की तरह उठाए जा रहा था.

इस दौरान आंध्र प्रदेश के कुरनूल जिले के अडोनी पुलिस स्टेशन में तैनात हेड कांस्टबेल जगदीश कुमार की नजर जब इस श्रमिक परिवार पर पड़ी तो उन्होंने पहले तो मजदूरों को खाना खिलाया इसके बाद उनके घर जाने के लिए गाड़ी की व्यवस्था कराई.
गौरतलब है कि लाकडाउन के बीच सोशल मीडिया पर प्रवासी मजदूरों की ऐसी मार्मिक तस्वीरें वायरल हो रही है, जिसको कोई भी देखकर देश के सिस्टम से सवाल करता है, सरकार से सवाल करता है. आखिर क्यों सरकारों को इन प्रवासी मजदूरों की लाचारी नहीं दिखाई देती. हाल ही में यूपी के आगरा की एक वीडियो वायरल हो रही थी जिसमें एक महिला अपने बच्चे को ट्राली पर सुलाए खींचते हुए ले जा रही थी.
The post जब इस ‘कलियुगी श्रवण कुमार’ को पुलिस ने देखा, पुलिसवाले ने किया ऐसा काम लोग कर रहे सलाम! appeared first on AKHBAAR TIMES.