राज्य की सीमा सील करने पर अखिलेश यादव का सवाल- ‘वंदे भारत’ में गरीब वंदनीय क्यों नहीं?

Share and Spread the love

लॉकडाउन की वजह से प्रवासी मजदूर अपने गृह राज्य लौट रहे हैं. इस बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिए कि किसी भी प्रवासी मजदूर को पैदल, अवैध या असुरक्षित वाहनों से यात्रा न करने दी जाए. जिलाधिकारियों से कहा गया कि उनके लिए बसों की व्यवस्था कराई जाए.
ऐसे में दिल्ली के गाजीपुर में दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर कई प्रवासी मजदूर रोक दिए गए. बॉर्डर पर काफी भीड़ जमा हो गयी थी. प्रवासी मजदूरों को राज्य की सीमा पर रोके जाने पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सरकार पर निशाना साधा है.
उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने ट्वीट करते हुए लिखा कि जिस प्रदेश ने देश को महामहिम दिए, प्रधान जी दिए, उस उप्र ने अपनी सीमाओं को गरीबों के लिए सील कर दिया है. बिना सड़क प्रवासी मजदूर भला कैसे बिहार, उड़ीसा, झारखण्ड, बंगाल व पूर्वोत्तर जाएंगे. हवा-हवाई सरकार कोई हवाई मार्ग ही बता दे. आगे उन्होंने सवाल करते हुए कहा कि वंदे भारत’ में गरीब वंदनीय क्यों नहीं है?

जिस प्रदेश ने देश को महामहिम दिए, प्रधान जी दिए, उस उप्र ने अपनी सीमाओं को ग़रीबों के लिए सील कर दिया है. बिना सड़क प्रवासी मज़दूर भला कैसे बिहार, उड़ीसा, झारखंड, बंगाल व पूर्वोत्तर जाएंगे. ये हवा-हवाई सरकार कोई हवाई मार्ग ही बता दे.
‘वंदे भारत’ में ग़रीब वंदनीय क्यों नहीं है?
— Akhilesh Yadav (@yadavakhilesh) May 17, 2020
अपने एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा कि उप्र में अचानक सीमाओं को बंद करने का आदेश देकर सरकार ने असमंजस की स्थिति पैदा करदी है. जो लोग बीच में प्रदेश में फंसे हैं, उनको मारने के लिए पुलिस को मजबूर किया जा रहा है. ज्ञानी लोग क्या ये नहीं जानते हैं कि हमारा संस्कार भूखे-प्यासे को रोटी-पानी देने का है न कि.. दया करो
The post राज्य की सीमा सील करने पर अखिलेश यादव का सवाल- ‘वंदे भारत’ में गरीब वंदनीय क्यों नहीं? appeared first on AKHBAAR TIMES.