कोरोना संकट में भी भाजपा का ध्यान गरीबों पर नहीं बल्कि चुनावी चालों पर हैः अखिलेश यादव

Share and Spread the love

Image credit- social mediaसमाजवादी पार्टी के मुखिया और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि कोरोना संकट के समय में भी सरकार का सारा ध्यान गरीबों को रोजी-रोटी की सुविधाएं देने के बजाए चुनावी चालों पर है.
अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार का आदेश है कि प्रवासी मजदूरों को उत्तर प्रदेश की सीमा में न घुसने देंगे, न रेल ट्रैक पर चलने देंगे, न ट्रक-दुपहिया से जाने देंगे. भाजपा की गरीब विरोधी नीतियां ही लोगों को ये सब काम करने को मजबूर कर रही हैं. अच्छा हो, सरकार गरीब की जिंदगी पर ही रासुका लगा दे. दतिया, झांसी, जालौन, कानपुर, गाजियाबाद, सहारनपुर की सीमाओं पर संघर्ष तबाही के शिकार श्रमिकों का कसूर क्या है.

उन्होंने कहा कि क्या अपने राज्य के कामगार विदेशी है. उन्नाव में सड़क जाम है. प्रशासन ने 10-10 किलोमीटर का जाम क्यों लगाया. इसका जवाब तो टीम-इलेवन को देना पड़ेगा. सिर पर सामान नदी को पार करते श्रमिकों का जत्था क्या यही उत्तर प्रदेश का परिचय है. ये सभी कितनी बेबसी के शिकार है. ऐसा तो बेगानों के साथ भी दुर्व्यवहार नहीं होता है.
सपा मुखिया ने कहा कि भाजपा ने श्रमिकों-कामगारों और गरीबों को जितना अपमानित किया, वह दुखभरी अनन्त दास्तान है. इस पीड़ा और कष्ट को श्रमिक कभी भूल नहीं पायेगा. श्रमिकों पर दोहरी मार एक कोरोना और दूसरी भाजपा सरकार का आचरण. यह कैसी विडम्बना है आजाद भारत में लाचार श्रमिक और उनकी भूख साथ चलने को मजबूर है. यह स्थिति राष्ट्रीय त्रासदी से कम नहीं है.
The post कोरोना संकट में भी भाजपा का ध्यान गरीबों पर नहीं बल्कि चुनावी चालों पर हैः अखिलेश यादव appeared first on AKHBAAR TIMES.