कोरोना वायरस को लेकर घिरे चीनी राष्ट्रपति ने पहली बार तोड़ी चुप्पी

Share and Spread the love

चीन के वुहान शहर से दुनियाभर में फैले कोरोना वायरस ने विश्व को ठहरा दिया है. हर देश इस महामारी से इस वक्त जूझ रहा है. अमेरिका जैसे देश इस बीमारी के आगे नतमस्तक नजर आए हैं. कोरोना महामारी के बीच चीन के राष्ट्रपति शी जिंगपिंग की भूमिका पर सवाल उठे हैं. जिसके जवाब उन्होंने विश्व स्वास्थ्य संगठन की सोमवार से शुरू हुई सालाना बैठक में  दिए.
जिंगपिंग ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण की शुरुआत से लेकर अभी तक हमने पारदर्शिता और जिम्मेदारी के साथ काम किया है. उन्होंने कहा कि चीन ने विश्व स्वास्थ्य संगठन व सम्बंधित देशों को सही समय पर हर जानकारी उपलब्ध कराई है.
चीन पर आरोप लगे हैं कि कोरोना वायरस महामरी की शुरुआत में उसने जानकारी छुपाई, जिससे दुनिया भर में संक्रमण फ़ैल गया. चीन की भूमिका पर सवाल अमेरिका सहित कुछ देशों ने उठाए हैं. स्वतंत्र जांच की मांग की जा रही है.
वहीं चीनी राष्ट्रपति ने कहा कि वायरस पर काबू पाने के बाद चीन विश्व स्वास्थ्य संगठन की अगुवाई में कोरोना महामारी में वैश्विक कार्रवाई की समीक्षा का समर्थन करता है. उन्होंने कहा कि वह जांच के लिए तैयार हैं, लेकिन यह स्वतंत्र और निष्पक्ष तरीके से की जानी चाहिए.
उन्होंने कोरोना महामारी को दूसरे विश्व युद्ध के बाद का सबसे बड़ा स्वास्थ्य संकट बताया है. इसके साथ ही पीड़ित देशों की मदद के लिए दो सालों में 2 अरब डॉलर की धनराशी देने का ऐलान किया.
The post कोरोना वायरस को लेकर घिरे चीनी राष्ट्रपति ने पहली बार तोड़ी चुप्पी appeared first on AKHBAAR TIMES.