बिहार में कोरोना के लिए प्रवासी मजदूरों को जिम्मेदार ठहराना अनुचित, जांच में लाएं तेजीः कांग्रेस

Share and Spread the love

बिहार प्रदेश युवा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ललन कुमार ने लॉकडाउन की अवधि बढ़ाए जाने को उचित ठहराते हुए राज्य की नितीश सरकार से कहा है कि वो कोरोना के बढ़ते मामलों के लिए प्रवासी मजदूरों को जिम्मेदार ठहराने की बजाए जांच और राहत कार्य में तेजी से काम करे.
ललन कुमार ने कहा कि ये बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि कोरोना के बढ़ते मामलों के लिए कुछ दिन पहले जमातियों को जिम्मेदार ठहराने वाली सरकार अब प्रवासी मजदूरों को जिम्मेदार ठहराने में लगी हुई है.
कांग्रेस नेता ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से आग्रह किया है कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में हो रही बढ़ोत्तरी के लिए प्रवासियों को जिम्मेदार ठहराए जाने संबंधी बयानों पर रोक लगाए क्योंकि यह ना सिर्फ अनुचित है बल्कि अफसरशाही की ओछी मानसिकता को दर्शाता है.

उन्होंने कहा कि लगातार रोज मरीजों, संक्रमित लोगों की संख्या की जानकारी देते वक्त अधिकारी बाहर से आ रहे मजदूरों की उसमें कितनी संख्या है को अलग से बता कर क्या साबित करना चाहते हैं.
ललन कुमार ने बिहार सैन्य पुलिस बल के जवानों के कोरोना पॉजिटिव होने का भी जिक्र करते हुए कहा कि कोरोना पोजेटिव जवानों को पटना के एक हॉटेल में दिखावे के लिए क्वारेंटींन किया गया था परंतु बिना स्वस्थ हुये हीं इनकों पुनः जहां से ये कोरोना पॉजिटिव हुये थे वहीं शिप्ट कर दिया गया. ऐसी हालत में सरकार किस तरफ इस महामारी पर काबू पाएगी. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी को कोरोना वॉरियर्स से पूरी हमदर्दी है.

कांग्रेस नेताओं ने कहा कि अभी भी राज्य में कोराना जांच की गति अत्यंत कम है तथा इसके संक्रमण को रोकने को लेकर जितने इंतेजाम होने चाहिए उसमें बिहार पीछे है. ऐसी सूरत में प्रवासियों को संक्रमण बढ़ाने संबंधित बयानों से स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को परहेज करना चाहिए तथा सरकार को क्वारेंटिंन केन्द्रों पर सुविधाएं बढ़ाई चाहिए तभी लॉकडाउन की अवधि बढ़ाने की कोई प्रासंगिकता होगी.
The post बिहार में कोरोना के लिए प्रवासी मजदूरों को जिम्मेदार ठहराना अनुचित, जांच में लाएं तेजीः कांग्रेस appeared first on AKHBAAR TIMES.