यूपी में बसों को लेकर अब नया मोड़, बॉर्डर से लौट रहीं कांग्रेस की बसें

Share and Spread the love

पिछले दो-तीन दिनों में उत्तर प्रदेश में प्रवासी मजदूरों के लिए बसों को लेकर राजनीति गरमाई है. कांग्रेस और उत्तर प्रदेश की योगी सरकार आमने-सामने हैं. इस बीच राजस्थान-यूपी बॉर्डर पर खड़ी बसें अब वापस लौटने लगी हैं. ये बसें खाली ही वहां से लौट रही हैं. बुधवार शाम को कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि इन बसों का इस्तेमाल करना है तो कीजिए, अगर इस्तेमाल नहीं करना तो हम इन्हें वापस भेज देंगे.
प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि जिस तरह से हम लोगों की मदद कर रहे हैं, उसी तरह करते रहेंगे. हमें इससे फर्क नहीं पड़ता कि आपकी बसें हैं या हमारी. हम सिर्फ सेवा भाव से मदद करना चाह रहे हैं.
उन्होंने कहा कि हम मदद करना चाहते हैं. हमने सकारात्मक और सेवा भाव से ही 16 मई को मुख्यमंत्री को एक हजार बसें भेजने की बात कही थी. हमने उनके अच्छे क़दमों का स्वागत भी किया. अगले दिन मुख्यमंत्री ने ऐलान किया कि उप्र रोडवेज की 12000 बसें हैं, आपकी बसों की जरूरत नहीं है. हमने 17 मई को गाजियाबाद में खड़ी 500 बसों को वापस भेज दिया.
पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी ने कहा कि अगले दिन पत्र के जरिए बस, ड्राइवर, कंडक्टर की सूची मांगी गयी. हमने उनके पत्र के 4-5 घंटे के अंदर ही बसों की सूची उपलब्ध करवा दी. रात साड़े 11 बजे से पत्र के जरिए उन्होंने सुबह 10 बजे तक 1000 बसों को लखनऊ पहुंचाने के लिए कहा.
The post यूपी में बसों को लेकर अब नया मोड़, बॉर्डर से लौट रहीं कांग्रेस की बसें appeared first on AKHBAAR TIMES.