69000 शिक्षक भर्ती में पिछड़ों और दलितों के साथ खड़े नजर आए अखिलेश, कहा आरक्षण से खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं

Share and Spread the love

हाईकोर्ट के आदेश के बाद यूपी में 69000 पदों पर भर्ती प्रक्रिया को लेकर कश्मकश जारी है. इस बीच ओवरलैंपिंग के संबंध में भी कई खबरें चल रही थी, जिसके लेकर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा 69000 सहायक अध्यापकों की नियुक्ति हेतु प्रक्रिया चल रही है.
माननीय उच्च न्यायालय के निर्णय के अनुसार सामान्य वर्ग के लिए 65 प्रतिशत तथा पिछड़े वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए 60 प्रतिशत प्राप्तांक के आधार पर शिक्षा विभाग द्वारा लगभग एक लाख पैतालिस हजार कुल अभ्यर्थी उत्तीर्ण घोषित हुए है.

जिनकी कौंसिलिंग शैक्षिक योग्यता के आधार पर करते हुए 69000 पदों पर अंतिम रूप से मेरिट के आधार पर आरक्षण नियमों का पालन करते हुए चयन होना है.
समाजवादी पार्टी ने कहा कि आरक्षण के साथ खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं
आरक्षण नीति के अनुसार उच्च मेरिट वाले अभ्यर्थियों की गणना सामान्य श्रेणी में की जाती है भले वह पिछड़े वर्ग अथवा अनुसूचित वर्ग के हो, अर्थात उच्च मेरिट प्राप्त पिछड़े वर्ग व अनुसूचित वर्ग के अभ्यर्थी को सामान्य श्रेणी में स्थान प्राप्त होता है.
समाजवादी पार्टी की मांग है कि आरक्षण नियमावली का पालन निश्चित रूप से चयन प्रक्रिया में किया जाय.  इसमें किसी प्रकार की छेड़छाड़ न की जाय.
The post 69000 शिक्षक भर्ती में पिछड़ों और दलितों के साथ खड़े नजर आए अखिलेश, कहा आरक्षण से खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं appeared first on AKHBAAR TIMES.